भारतीय मजदूर संघ राजस्थान परिवहन के रोडवेज कर्मियों की विशाल रैली!

भारतीय मजदूर संघ राजस्थान परिवहन के रोडवेज कर्मियों की विशाल रैली!

जयपुर (20-3-2021): जयपुर 19 मार्च 2021, रोडवेज में भारतीय मजदूर संघ से संबद्ध राजस्थान परिवहन निगम् संयुक्त कर्मचारी फैडरेशन एवं सेवानिवृत कर्मचारी महासंघ के आव्हान पर आज जयपुर में रोडवेजकर्मियों ने सांतवा वेतनमान लागू करने, सेवानिवृत कर्मचारियों के बकाया भुगतान, रिक्त पदों पर भर्ती तथा रोडवेज में नई बसों की खरीद सहित 19 सूत्रीय मांग पत्र के समर्थन में सिन्धी कैम्प से सिविल लाईन्स फाटक तक रैली निकाली। रैली में हजारों की संख्या में रोडवेजकर्मियों ने भाग लिया। रैली प्रातः 11:00 बजे सिन्धी कैम्प बस स्टैण्ड से रवाना होकर वनस्थली मार्ग, गर्वनमेन्ट हॉस्टल, अजमेर रोड़, मिशन कम्पाउण्ड रोडवेज मुख्यालय होती हुयी सिविल लाईन्स फाटक तक पहुंची। सिविल लाईन्स फाटक पर रोडवेजकर्मियों ने उग्र प्रदर्शन एवं नारेबाजी कर रोडवेज मुख्यालय पर परिवहन फैडरेशन के प्रदेशाध्यक्ष श्री नत्थू सिंह राठौड़ एवं सेवानिवृत कर्मचारी महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष श्री श्रीगोपाल शर्मा की अध्यक्षता में आम सभा की।

आम सभा को क्षेत्रीय संगठन मंत्री भा.म.स. श्री राजबिहारी शर्मा ने सम्बोधित करते हुये कहा कि राज्य सरकार रोडवेज के घाटे की चिन्ता करने का दिखावा मात्र करती है तथा स्वंय के कार्यकाल एवं पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के घाटे की जांच कराने का वादा करती है तथा लोक परिवहन सेवा को परमिट नही देने की बात करने के बाद भी परमिट दिये है तथा प्राईवेट बसों को निगम के समानान्तर संचालन करवाकर राज्य सरकार ने निगम के घाटे को बढाने का कार्य किया है। निगम के बस अड्डों के बाहर माननीय न्यायालय एवं परिवहन आयुक्त के नो पार्किंग के आदेशों की पालना न करवाते हुए निगम के बस अड्डों के बाहर से ही प्राईवेट बसों को सवारी उठाने की गैर कानूनी छूट पुलिस विभाग द्वारा राज्य सरकार के संरक्षण में दी जाती है। रोडवेजकर्मियों की वर्तमान सुविधाओं में कटौती की जा रही है वेतन, पेन्शन के भुगतान समय पर नही होते है तथा बोनस एवं डी.ए. के लिए भी आन्दोलन करने पड़ते हैं। रोडवेजकर्मियों के साथ सौतेला व्यवहार करते हुए सांतवें वेतनमान का लाभ नही दिया जा रहा है एवं सेवानिवृत कर्मचारियों के परिलाभों  का भुगतान चार वर्ष से लम्बित हैं। इससे रोडवेजकर्मियों में असंतोष व्याप्त है इसकी आड़ में रोडवेज के कुछ अन्य संगठन रोडवेज का चक्का जाम करके सरकार के रोडवेज को बंद करने के मंसूबों में सहयोग कर रहे हैं।

सभा को सम्बोधित करते हुए श्री बृजेशकान्त शर्मा अखिल भारतीय महामंत्री, भारतीय परिवहन मजदूर महासंघ ने कहा कि समस्त भारत में परिवहन उद्योग के कल्याण के लिए राज्य सरकारों के साथ समन्वय स्थापित कर केन्द्र सरकार द्वारा एक केन्द्रीय परिवहन नीति बनायी जानी चाहिए जिसमें परिवहन के लिए काम करने वाले भारतीय परिवहन मजदूर महासंघ से सलाह-मशविरा करते हुए परिवहन उद्योग के उत्थान के लिए नीति निर्धारित कर राष्ट्रीय स्तर पर कार्य किया जाये। जिससे राज्य सरकारों द्वारा परिवहन निगमों को परिवहन विभाग के अन्तर्गत संचालित किया जाये एवं हर वर्ष नई बसों के लिए राज्य के बजट में बजट प्रावधान कर बस बेडे को सुदृढ़ किया जावे एवं संपूर्ण संरक्षण दिया जाकर रोडवेज का संचालन हो ताकि हर राज्य में जनता को उत्कृष्ट परिवहन सेवा मिल सकें।

श्रीमती मनीषा मेघवाल, केन्द्रीय कार्यसमिति सदस्या, भा.म.स. एवं प्रभारी परिवहन महिला प्रकोष्ठ ने अपने उद्बोधन में कहा कि रोडवेज में संचालन से जुडी महिलाओं को चाईल्ड केयर लीव नही दी जा रही है तथा बेबी फीडिंग एवं महिला कर्मचारियों के लिए मूलभूत सुविधाओं का अभाव है महिलाकर्मियों के उत्थान एवं सामाजिक सुरक्षा तथा स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु रोडवेज प्रशासन को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री बिशन सिंह तवंर ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ एक राष्ट्रवादी संगठन है जो राष्ट्रीय हित को सर्वोपरि रखते हुए उद्योग हित के लिए तथा श्रमिक हित का संरक्षण करते हुए आन्दोलनात्मक कदम उठाता है। भारतीय मजदूर संघ हड़ताल के विकल्प को अंतिम हथियार के रूप में अपनाता है। रोडवेज के कार्यकर्ताओं को भी राष्ट्रवादी विचारधारा के संगठन में विश्वास कर भारतीय मजदूर संघ की विचारधारा से प्रेरणा लेते हुए हड़ताल जैसे आत्मघाती कदम से दूरी बनाकर उद्योग हित में कार्य करना चाहिए।

भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश महामंत्री श्री दीनानाथ रूथंला ने अपने सम्बोधन में कहा कि रोडवेजकर्मी अपने आप को अकेला ना समझें रोडवेजकर्मियों की मांगे वाजिब है तथा भारतीय मजदूर संघ का कार्यकर्ता लोकतांत्रिक तरीके से विरोध प्रदर्शन करते हुए राज्य सरकार एवं प्रबंधन के साथ उचित संवाद रखते हुए अपनी मांगें रखता है। राज्य सरकार द्वारा रोडवेजकर्मियों की समस्त मांगों पर विचार कर समाधान का रास्ता शीघ्र निकालना चाहिए। फैडरेशन के साथ भारतीय मजदूर संघ कंधे से कंधा मिलाकर खडा है।

श्री वरूण तिवाडी प्रभारी फैडरेशन ने अपने उदबोधन में कहा कि राज्य सरकार समय रहते रोडवेजकर्मियों की मांगांे का समाधान करें अन्यथा चार विधानसभाओं के उपचुनाव में इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

प्रदेश महामंत्री श्री महेश चतुर्वेदी ने बताया है कि वर्तमान परिवहन मंत्री एवं भूतपूर्व उप मुख्यमंत्री एवं पी.सी.सी. चीफ श्री सचिन पायलट ने चुनाव पूर्व आमरण अनशन कर रहे फैडरेशन कार्यकर्ताओं की मांगों को वाजिब बताते हुए तत्कालीन भाजपा सरकार की आलोचना की थी तथा सत्ता में आने पर कांग्रेस द्वारा सभी मांगों को पूरा करने का वादा किया था परन्तु सरकार का आधा कार्यकाल व्यतीत होने के पश्चात् भी हमारी मांगों पर कोई विचार नही किया गया है। ना तो वेतन, पेंशन 01 तारीख को मिलते है और ना ही सेवानिवृत कर्मचारियों को 4 वर्षो से सेवानिवृति परिलाभों का भुगतान किया जा रहा है। राज्य सरकार द्वारा रोडवेज को नई बसें, रिक्त पदों पर भर्ती तथा सातवें वेतनमान का लाभ नही दिया जा रहा है। राज्य सरकार से मांग करते है कि शीघ्र ही अपने वादे को पूरा कर रोडवेजकर्मियों की मांगों को पूरा करें।

सेवानिवृत कर्मचारी महासंघ के प्रदेशाध्यक्ष श्री श्रीगोपाल शर्मा ने कहा कि सेवानिवृत रोडवेजकर्मियों के परिलाभों का भुगतान कर राज्य सरकार को संवेदनशीलता दिखाते हुए वरिष्ठ जनों के हित में निर्णय लेना चाहिए तथा लोक कल्याण की भावना से कार्य करना चाहिए।
सेवानिवृत कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री श्री मुरारी लाल शर्मा ने बताया कि रोडवेजकर्मी सेवानिवृति के बाद चिकित्सा सेवा से वंचित है सेवानिवृत एवं सेवारत रोडवेजकर्मियों को 5 लाख तक कैश लेस चिकित्सा सुविधा मिले तथा समय पर सेवानिवृति परिलाभों का भुगतान हो तो सेवानिवृत कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति में सुधार संभव है।

सभा में फैडरेशन के पूर्व प्रमुख पदाधिकारी भी उपस्थित रहे तथा पूर्व पदाधिकारियों में पूर्व प्रदेशाध्यक्ष श्री भगवान सिंह शेखावत, पूर्व प्रदेशाध्यक्ष श्री सोहन सिंह राठौड़, श्री नाहर सिंह राजावत, पूर्व कार्य अध्यक्ष फैडरेशन श्री मनीराम सुथार ने भी सम्बोधित किया।

सभा का संचालन श्री सत्यनारायण शर्मा अखिल भारतीय मंत्री भारतीय परिवहन मजदूर महासंघ ने किया तथा अंत में प्रदेशाध्यक्ष फैडरशन श्री नत्थू सिंह राठौड एवं सेवानिवृत महासंघ अध्यक्ष श्री श्रीगापोल द्वारा सभी सेवारत एवं सेवानिवृत कर्मचारियों का धन्यवाद ज्ञापित किया एवं सदैव इसी प्रकार सहयोग की कामना की।

अन्त में फैडरेशन का प्रतिनिधि मण्डल क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री राजबिहारी शर्मा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार, परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त, वित्त सचिव, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रोडवेज को ज्ञापन दिया गया एवं शीघ्र समाधान हेतु त्रिपक्षीय वार्ता हेतु आमंत्रित करें।

 

One thought on “भारतीय मजदूर संघ राजस्थान परिवहन के रोडवेज कर्मियों की विशाल रैली!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *