भारतीय मजदूर संघ हरियाणा, 21वां त्रिवार्षिक अधिवेशन !

भारतीय मजदूर संघ हरियाणा, 21वां त्रिवार्षिक अधिवेशन !

भिवानी, 14 मार्च: भारतीय मजदूर संघ हरियाणा के 21वें त्रिवार्षिक अधिवेशन के दुसरे दिन प्रथम स्तर में ठेका प्रथा के विरूद्ध, विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए श्रमिक अधिकारों के हनन , सरकार की गलत आर्थिक नीतियों के कारण प्राथमिक कृषि सहकारी समितियों के घाटे एवं कर्मचारियों की समस्याओं तथा प्रदेश में DC रेट मैं भारी असमानता को लेकर प्रस्ताव सदन के समुख प्रस्तुत किए गए चर्चा उपरांत सभी प्रस्ताव ध्वनीमत से पारित किए गए !
उसके बाद दूसरे सत्र में श्रीमान पवन कुमार जी संगठन मंत्री उत्तर क्षेत्र द्वारा भारतीय मजदूर संघ हरियाणा की नई समिति की घोषणा की गई। जिसमें श्री अशोक कुमार को प्रदेशाध्यक्ष, विरेन्द्र शर्मा, अशोक शर्मा, जयवंती को प्रदेश उपाध्यक्ष, हवासिंह महला को प्रदेश महामंत्री, हवासिंह तंवर, प्रदीप गौच्छी, देवीलाल एवं मीना ठाकुर को प्रदेश मंत्री, सुभाष वर्मा को कोषाध्यक्ष, श्री हनुमान गोदारा को प्रदेश संगठन मंत्री की जिम्मेवारी दी गई। प्रदेश से आए सभी प्रतिनिधियों ने सर्वसम्मति से भारत माता के उदघोष के साथ नई कार्य समिति का समर्थन किया। राष्ट्रीय महामंत्री विनय कुमार सिन्हा ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ का कार्यकर्ता सैदांतिक मूल्यों से जूड़ा हुआ है। इसलिए भारतीय मजदूर संघ प्रथम स्थान पर ढटा हुआ है। एटक से टूटकर इंटक व इंटक से सीटू जैसे संगठन बने ! भारतीय मजदूर संघ मात्र एक गैर राजनैतिक केंद्रीय श्रमिक संघ जो मजदूरों एवं कर्मचारियों की मांगों एवं मुद्दों को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाता है तथा उनके अधिकारों की पेरवी करता है। केन्द्र सरकार 44 श्रम कानूनों के स्थान पर चार लेबर कोड लेकर आई है। भारतीय मजदूर संघ ने श्रम कानूनों मैं समय की आवश्यकता को देखते हुए कुछ बदलावों का स्वागत भी किया है किंतु श्रमिक हितों के विपरीत जो अनावश्यक बदलाव सरकार द्वारा दिए गए हैं उसका विरोध भी दर्ज करवाया है! क्योंकि भारतीय मजदूर संघ राष्ट्रहित, उद्योग हित एवं श्रमिक हित के सिद्धांत को मानता है ! नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष श्री अशोक कुमार ने कहा कि जो जिम्मेवारी एवं कार्यक्रम अखिल भारतीय स्तर पर निर्धारित किए गए हैं उन्हेें हरियाणा प्रदेश कार्य समिति तन-मन-धन से पूरा करेगी। आगामी कार्यक्रमों में 15 से 20 मार्च सभी विभागों के कर्मचारियों के पैंशन में सुधारों को लेकर अखिल भारतीय स्तर पर जनजागरण कार्यक्रम किए जाएंगे। 25 मार्च को जो प्रस्ताव त्रिवार्षिक अधिवेशन में पास किए गए हैं उनको लेकर जिला उपायुक्त को ज्ञापन दिया जाएगा। मई माह में ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन किए जाएंगे। 17 सितंबर तक हरियाणा सरकार इन प्रस्तावों को लेकर कर्मचारी मजदूर के हितों में फैसला नहीं लेती तो अक्तूबर माह में 50 हजार की संख्या से ज्यादा मजदूर व कर्मचारी पंचकुला पहुंच कर मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे। इस अवसर पर सतबीर शर्मा, मदन कौशिक, पदम सिंह तंवर, अनिल कुमार, हवासिंह तंवर, मुकेश सिहाग, दिवेश शर्मा, रविराज, पवन कौशिक, अनिल, अनिल पारक, ईश्वर, मनोज आदि उपस्थित रहे।

*****